suryagrahan-sooryagrahan-2022-best-astrologer-in-india-25-ocotober-diwali-dursshera

2022 ka last & India ka 1st Suryagrahan | Jaane Aapki Rashi ke liye kaisa hoga?

क्या है सूर्यग्रहण / All about solar eclipse -

पृथ्वी और सूर्य के बीच से होकर जब चन्द्रमा गुज़रता है तब इस घटना को सूर्यग्रहण लगना कहते है। सूर्यग्रहण हमेशा अमावस्या को ही लगता है। दरअसल चन्द्रमा पृथ्वी के चारों ओर चक्कर लगाता है और पृथ्वी सूर्य का चक्कर लगाती है इसलिए कभी कभी चंद्रमा सूर्य और पृथ्वी के मध्य आ जाता है जिससे सूर्य की रोशनी आंशिक रूप से या पूरे रूप से पृथ्वी पर नही जा पाती और सूर्य का रूप या तो पूरा ढँक जाता है या कटा हुआ सा दिखाई देता है। इस खगोलीय घटना को सूर्यग्रहण कहा जाता है।

When the Moon passes between the Earth and the Sun, this phenomenon is called a solar eclipse / Sooryagrahan. A solar eclipse always takes place on the new moon. Actually, the moon revolves around the earth and the earth revolves around the sun, so sometimes the moon comes between the sun and the earth, due to which the sunlight does not reach the earth partially or completely and the form of the sun is either Completely covered or appears to be cut off. This astronomical event is called a solar eclipse.

सूर्यग्रहण के प्रकार - Types of Solar Eclipse / Sooryagrahan

सूर्यग्रहण के दो प्रकार होते हैं | 2 types of solar eclipse -

सूर्यग्रहण के दो प्रकार होते हैं पहला होता है “खंडग्रास सूर्यग्रहण”, जिसमें चन्द्रमा सूरज का थोड़ा सा हिस्सा ढँकता है। दूसरा है पूर्ण सूर्यग्रहण जिसमें चंद्रमा सूर्य को पूरी तरह ढँक लेता है और कुछ समय के लिए पृथ्वी पर अंधेरा हो जाता है। यह पृथ्वी पर बहुत कम स्थानों पर दिखता है। कभी-कभी यह कई स्थानों पर वलय रूप यानी कंगन के जैसा दिखाई पड़ता है ऐसा इसलिए होता क्योंकि चन्द्रमा सूर्य के ठीक बीच में आ जाता है और उसके आसपास से सूर्य की रोशनी कंगन जैसी दिखाई पड़ती है।

There are two types of solar eclipse, the first is “Khandgras solar eclipse”, in which the moon covers a little part of the sun. The second is a total solar eclipse in which the Moon completely covers the Sun and for some time the Earth becomes dark. It is visible in very few places on earth. Sometimes it appears like a ring in many places, this is because the moon comes right in the middle of the sun and the sunlight from its surroundings is seen like a bracelet.

suryagrahan-sooryagrahan-2022-best-astrologer-in-india-25-october-diwali-dursshera-rashi-prediction-mithun-diwali-shubh-mahurat

सूर्यग्रहण (Solar Eclipse) साल में कितनी बार आता है

सूर्यग्रहण वर्ष में कम से कम 2 बार होते हैं और इनकी संख्या वर्ष में अधिकतम 5 भी हो जाती है। हर सूर्यग्रहण का सूतक काल ग्रहण शुरू होने के ठीक 12 घण्टे पहले शुरू हो जाता है जो कि ग्रहण ख़त्म होने के साथ ही ख़त्म होता है। सूतक काल में कोई भी शुभ काम नही किया जाता। इस बार वर्ष का आखिरी सूर्यग्रहण 25 अक्टूबर 2022, दिन मंगलवार को है जो कि अलग-अलग देशों में अलग-अलग रूप और समय में दिखाई देगा। भारत में यह इस साल पहली बार दिखाई देगा जो कि शाम 4:22 बजे से शुरू होकर शाम 6:25 बजे ख़त्म होगा। जिसका सूतक काल सुबह 4:22 बजे से शुरू हो जाएगा। यह ग्रहण कुछ राशि के जातकों के लिए शुभदायी है पर कुछ राशि के जातकों के लिए अशुभ।


Solar eclipses occur at least twice a year and their number reaches a maximum of 5 in a year. The Sutak period of every solar eclipse starts exactly 12 hours before the eclipse, which ends with the end of the eclipse. No auspicious work is done during the Sutak period. This time the last solar eclipse of the year is on Tuesday, October 25, 2022, which will be visible in different forms and times in different countries. In India, it will be visible for the first time this year which will start from 4:22 pm and end at 6:25 pm. Whose Sutak period will start from 4:22 am. This eclipse is auspicious for the people of some zodiac, but inauspicious for the people of some zodiac.

suryagrahan-sooryagrahan-2022-best-astrologer-in-india-25-october-diwali-dursshera-rashi-prediction-mithun-diwali-shubh-mahurat-astroarunpandit

सूर्यग्रहण का आध्यात्मिक कारण | Spiritual reason for solar eclipse -

पुराणों के अनुसार सुमद्र मंथन के समय जब भगवान विष्णु मोहिनी रूप रखकर देवताओं को अमृत पान करवा रहे थे तब स्वरभानु नाम के राक्षस ने छल किया और देवताओं के समूह में जाकर अमृत पान कर लिया था। उसके इस छल को चन्द्रदेव और सूर्यदेव ने भांप लिया और तुरन्त भगवान विष्णु को अवगत किया तब भगवान विष्णु ने सुदर्शन चक्र से स्वरभानु का सिर धड़ से अलग कर दिया। परन्तु अमृत पीने की वजह से वह अमर हो चुका था इसलिए वह जीवित ही रहा। तब इसका सिर राहु और धड़ केतु नाम से प्रख्यात हुआ और ग्रह के रूप में सूर्यमंडल में इनका निवास हो गया। लेकिन इस घटना के बाद से राहु और केतु सूर्य और चन्द्र से दुश्मन भाव रखते हैं, तब से राहु सूर्य का और केतु चंद्र का ग्रहण करता है परन्तु देवता दानवों से श्रेष्ठ होते हैं इसलिए यह घटना कम समय के लिए ही होती है और यह घटनाएं सूर्यग्रहण और चन्द्रग्रहण कहलातीं है।
आध्यात्मिक दृष्टिकोण से बात की जाए तो आज से 4 हजार ईसा पूर्व सनातन संस्कृति के महान ऋषियों में से एक अत्रिमुनि ने सूर्यग्रहण और चंद्रग्रहण की अवधारणा दे दी थी और कुछ नियम और सावधानियां तय की थी। यह वैदिक साहित्य में प्रमाण के तौर पर मिलता है। ज्योतिष के अनुसार ग्रहण का प्रत्येक राशियों पर शुभ-अशुभ दोनों प्रभाव पड़ता है।

According to the Puranas, during the Sumadra churning, when Lord Vishnu was giving nectar to the deities by taking the form of Mohini, a demon named Swarabhanu tricked them and went to the group of gods and drank the nectar. Chandradev and Suryadev sensed his deceit and immediately informed Lord Vishnu, then Lord Vishnu severed Swarabhanu’s head from his torso with the Sudarshan Chakra. But he had become immortal because of drinking nectar, so he remained alive. Then its head became famous as Rahu and trunk Ketu and as a planet, they resided in the solar system. But after this incident, Rahu and Ketu have enemies with Sun and Moon, since then Rahu eclipses the Sun and Ketu eclipses the Moon, but the gods are superior to the demons, so this event is only for a short time and these events There are solar eclipses and lunar eclipses.
Talking from the spiritual point of view, from today 4 thousand BC, one of the great sages of Sanatan culture, Atrimuni had given the concept of solar eclipse and lunar eclipse and fixed some rules and precautions. This is found in the form of evidence in the Vedic literature. According to astrology, eclipse has both auspicious and inauspicious effects on each of the zodiac signs.

suryagrahan-sooryagrahan-2022-best-astrologer-in-india-25-october-diwali-dursshera-rashi-prediction-mithun-diwali-shubh-mahurat-chand

Sooryagrahan ki धार्मिक मान्यताएं | Religious Beliefs of Solar Eclipse -

सूर्यग्रहण के अवसर पर भारतीय हिन्दू संस्कृति के अनुसार हमारे ऋषि मुनियों द्वारा यह कहा गया है कि ग्रहण के वक्त भोजन करना,पानी पीना,स्नान करना या शुभ काम करना अनिवार्य रूप से मना किया गया है। पानी के पात्रों और किसी भी द्रव्य को शुद्ध रखने के लिए उनमें तुलसी के पत्ते डाल दिये जाते हैं। ऐसी मान्यता है कि ग्रहण के समय भोजन और पानी में विषैले तत्व प्रभावी हो जाते हैं जो शरीर के लिए कई रोग का कारण बनते है इसलिए ग्रहण ख़त्म होने के बाद भोजन और पानी को नष्ट कर दिया जाता है और नया भोजन बनाया जाता है और शुद्ध पानी पात्रों में भरा जाता है। ग्रहण ख़त्म होने के बाद स्नान करने की परंपरा है ताकि ग्रहण के कारण प्रभावी कीटाणु ख़त्म हो जाएं। इस दिन गर्भवती स्त्री को ग्रहण देखने से सख़्त मनाही है और इसके पेट में तुलसी का लेप लगाया जाता है ताकि राहु की कुदृष्टि से बचा जा सके। ग्रहण के समय भगवान की आराधना की जाती है, मंत्र जप किये जाते हैं, भजन कीर्तन किया जाता है।

According to Indian Hindu culture as said by the best astrologer in india astro arun pandit, on the occasion of solar eclipse, it has been said by our sages that it is compulsorily forbidden to eat, drink water, take bath or do auspicious work during the eclipse. To keep water vessels and any liquid pure, basil leaves are put in them. It is believed that at the time of eclipse, the toxic elements in the food and water become effective, which cause many diseases for the body, so after the eclipse is over, the food and water are destroyed and new food is prepared and purified. Water is filled in vessels. It is a tradition to take a bath after the eclipse ends so that the germs that are causing the eclipse are destroyed. On this day a pregnant woman is strictly prohibited from seeing the eclipse and a paste of Tulsi is applied on her stomach so that the evil eye of Rahu can be avoided. At the time of eclipse, God is worshipped, mantras are chanted, bhajan kirtan is performed.

suryagrahan-sooryagrahan-2022-best-astrologer-in-india-25-october-diwali-dusshera-rashi-prediction-mithun-diwali-shubh-mahurat-horoscope

जानें किस राशि के लिये कितना फलदायी है यह सूर्यग्रहण | Know how beneficial 2022 solar eclipse is for which zodiac sign / rashi -

मेष राशि (Mesh Rashi) / Aries Zodiac Sign 2022-

2022 साल में का सूर्यग्रहण मेष राशि के लिए बहुत शुभ है,यह सूर्यग्रहण धन लाभ लेकर आया है यानी ये आपके करियर और कार्य क्षेत्र के लिए बहुत शुभ साबित हो सकता है। किसी से आर्थिक लेनदेन करना या निवेश करना आपके लिए बहुत शुभ है। कुल मिलाकर इस बार का सूर्यग्रहण आपके लिए आर्थिक रूप से बहुत प्रबल है।


उपाय- ग्रहण काल में भगवान गणेश की पूजा और गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करें।

The 2022 year’s solar eclipse is very auspicious for Aries, this solar eclipse has brought wealth, that is, it can prove to be very auspicious for your career and work field. It is very auspicious for you to make financial transactions or make investments with someone. Overall, this solar eclipse is very strong for you financially.

Remedy – during the eclipse period Worship Lord Ganesha and recite Ganpati Atharvashirsha.

astroarunpandit-best-astrologer-top-numerology-astrology-palmistry-courses-kundli-in-pur-lucknow-uttar-pradesh-india-meen-rashi-rashifal

वृषभ (Vrishabh Rashi) राशि / Taurus Zodiac Sign 2022-

यह सूर्यग्रहण आपके लिए अशुभ है। इस बार आपको काफी समस्याओं और चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। कार्यालय पर कलह हो सकती है या व्यापार में धन हानि हो सकती है। पारिवारिक झगड़ों से आप मानसिक तनाव में आ सकते हैं। प्रेम संबंधों के लिए भी यह समय अच्छा साबित नहीं होगा।आपको किसी भी कार्य में अधिक मेहनत लग सकती है।


उपाय- भगवान सूर्य की उपासना करें और जितना हो सके ध्यान करें। यह आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होगा।

This solar eclipse is inauspicious for you. This time you may have to face many problems and challenges. There may be a dispute in the office or there may be loss of money in business. Family disputes can put you under mental stress. This time will also not prove to be good for love relations. You may have to put more effort in any work.


Remedy- Worship Lord Surya and meditate as much as possible. It will be beneficial for your mental health.

मिथुन(Mithun Rashi) राशि / Gemini Zodiac Sign 2022-

इस बार के सूर्यग्रहण का असर आपके जीवन पर गहरा प्रभाव डालेगा। आपको अच्छे परिणाम की प्राप्ति के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। आपके खर्च अधिक होंगे। आपको अपने पैसे खर्च करने की प्रवृत्ति पर ज़्यादा ध्यान देना होगा। किसी भी खर्च के पहले बजट बनाकर ही आगे बढ़े। प्रेम संबंध में कुछ समस्याएं आ सकती हैं पर संयंम से काम लेकर हल ढूंढा जा सकता है।


उपाय- ग्रहण काल में मेडिटेशन करें और अपने आराध्य देव या देवी की पूजा करें।

The effect of this solar eclipse will have a profound effect on your life. You may have to work harder to get good results. Your expenses will be higher. You have to pay more attention to your spending habits. Proceed only by making a budget before any expenditure. There may be some problems in a love relationship, but by working with restraint, the solution can be found.


Remedy- Do meditation during the eclipse period and worship your adorable god or goddess.

कर्क (Kark Rashi) राशि / Cancer Zodiac Sign 2022-

कर्क राशि के जातकों के लिए भी यह सूर्यग्रहण आर्थिक परेशानियां ख़त्म करने आया है, इस दौरान आपके लिए धन लाभ की संभावना बन रही है। आपको मानसिक तनाव का सामना करना पड़ सकता है। स्वास्थ पर आपको ध्यान देने की आवश्यकता है। प्रेम संबंधों में परेशानियां आ सकती है इसलिए अपने ऊपर संयंम रखें।


उपाय- माँ भगवती की पूजा और उपासना करें। ग्रहण काल में दुर्गा सप्तशती का पाठ करें।

For the people of Cancer zodiac, this solar eclipse has also come to end financial problems, during this time there is a possibility of monetary gains for you. You may face mental stress. You need to pay attention to health. There can be problems in love relationships, so keep restraint on yourself.


Remedy- Worship and worship Maa Bhagwati. Recite Durga Saptashati during the eclipse period.

 

astroarunpandit-best-astrologer-top-numerology-astrology-palmistry-courses-kundli-in-pur-lucknow-uttar-pradesh-india-meen-rashi-rashifal

सिंह (Singh Rashi) राशि / Leo Zodiac Sign 2022-

सिंह राशि के लिए यह सूर्यग्रहण शुभ है। आपको पारिवारिक सुख की प्राप्ति हो सकती है या कोई शुभ समाचार मिल सकता है। नयी प्रोपर्टी या मकान खरीद सकते हैं। किसी नये काम को शुरू करने का आपका यह उचित समय है। आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। प्रेम संबंधों में सुख की प्राप्ति होगी। परिवार की खुशी से जुड़ा कोई शुभ समाचार प्राप्त होगा।


उपाय- पूरे भाव से माता लक्ष्मी की पूजा करें और श्री सूक्त का पाठ करें।

This solar eclipse is auspicious for Leo. You can get family happiness or you can get some good news. You can buy a new property or house. This is the right time for you to start some new work. Your financial condition will improve. There will be happiness in love relationships. You will get some good news related to the happiness of the family.

Remedy – In full Worship Mata Lakshmi and recite Shri Sukta.

astroarunpandit-best-astrologer-top-numerology-astrology-palmistry-courses-kundli-in-pur-lucknow-uttar-pradesh-india-meen-rashi-rashifal

कन्या (Kanya Rashi) राशि / Virgo Zodiac Sign 2022-

इस सूर्यग्रहण का असर आपके धैर्य को चुनौती देने वाला है। आपको अपने ऊपर किसी भी स्थिति में संयम रखने की आवश्यकता है। खासकर निवेश करने या खरीदी करने पर, क्योंकि आपकी जल्दबाज़ी आपको काफी नुकसान पहुंचा सकती है। आप नया वाहन खरीद सकते हैं। व्यापार के लिए यह आपका उत्तम समय है।


उपाय- माँ लक्ष्मी की पूजा करें और ग्रहण काल में “ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नमः” इस मंत्र का जाप करें।

The effect of this solar eclipse is going to challenge your patience. You need to exercise restraint on yourself in any situation. Especially when investing or buying, because your haste can do you a lot of damage. You can buy a new vehicle. This is your best time for business.


Remedy- Worship Maa Lakshmi and chant this mantra “Om Shrim Hreem Shrim Kamale Kamallaye Prasid Prasid Om Shrim Hreem Shrim Mahalakshmyai Namah” during the eclipse period.

 

तुला (Tula Rashi) राशि / Libra Zodiac Sign 2022-

इस बार का सूर्यग्रहण सूर्य की तुला राशि में स्थिति के वक्त लग रहा है इसलिए यह ग्रहण सबसे ज़्यादा तुला राशि के लिए ही अशुभ है। आपको अपनी सेहत को लेकर बहुत सजग रहना होगा। वाहन आदि से चोट लगने की संभावनाएं ज़्यादा हैं इसलिए वाहन चलाने में सावधानी रखें।
अपनी सेहत को ध्यान में रखकर खान पान करें।


उपाय- भगवान शंकर की पूजा करें और महामृत्युंजय का जाप निरन्तर करते रहें।

This year’s solar eclipse is taking place at the time of Sun’s position in Libra, so this eclipse is most inauspicious for Libra. You have to be very careful about your health. There are high chances of injury due to vehicles etc., so be careful while driving.
Eat food keeping your health in mind.


Remedy- Worship Lord Shankar and keep chanting Mahamrityunjaya continuously.

वृश्चिक राशि (Vraschik Rashi) / Scorpio Zodiac Sign 2022-

वृश्चिक राशि के लिए यह सूर्यग्रहण सामान्य है। ग्रहण के प्रभाव से आप पर आर्थिक नुकसान की सम्भावनायें बन रहीं है। इसलिए इस दिन बिल्कुल भी धन खर्च न करें। हालांकि निवेश करने के लिए दिक्कत नहीं है फिर भी सोच समझकर ही निवेश करें। ज़मीन से जुड़े लाभ प्राप्त हो सकते हैं,खेत,ज़मीन,प्लॉट खरीदने की संभावनाएं बन रहीं है। स्वास्थ अच्छा रहेगा और प्रेम संबंध में थोड़ा उतार चढ़ाव हो सकता है इसलिए ध्यान रखें।


उपाय- भगवान विष्णु की आराधना करें। ग्रहण काल में श्री हरि स्तोत्र का पाठ करें।

This solar eclipse is normal for Scorpio. There are possibilities of financial loss on you due to the effect of eclipse. So do not spend any money on this day. Although there is no problem to invest, still invest wisely. Benefits related to land can be obtained, there are possibilities of buying farm, land, plot. Health will be good and there may be some ups and downs in love relationship, so take care.

Remedy- Worship Lord Vishnu. Recite Shri Hari Stotra during the eclipse period.

धनु राशि (Dhanu Rashi )/ Sagittarius Zodiac Sign 2022-

धनु राशि के लिए यह सूर्यग्रहण स्वास्थ को लेकर नकारात्मक दिखाई देता है। आपको अपने स्वास्थ्य को लेकर बिल्कुल भी लापरवाही नही करनी चाहिए वरना आपको शरीर में गम्भीर समस्याएँ हो सकती हैं। आर्थिक रूप से भी यह सूर्यग्रहण आपके लिए शुभ नहीं है इसलिए धन खर्च से बचें। केवल प्रेम संबंधों में मजबूती दिखाई दे रही हैं।


उपाय- भगवान हनुमान जी की आराधना करें और ग्रहण काल में बजरंग बाण का जाप करें।

For Sagittarius, this solar eclipse appears negative regarding health. You should not be careless about your health at all or else you may have serious problems in the body. Financially also this solar eclipse is not auspicious for you, so avoid spending money. Strength is visible only in love relationships.


Remedy- Worship Lord Hanuman ji and chant Bajrang Baan during the eclipse period.

मकर राशि (Makar Rashi) / Capricorn Zodiac Sign 2022-

मकर राशि के लोगों को अपनी वाणी पर संयम रखने की बहुत आवश्यकता है वरना बनते हुए काम बिगड़ने की पूरी संभावना है। किसी भी प्रकार की जल्दबाज़ी आपके लिए घातक हो सकती है। आपको अपनी दिनचर्या पर ध्यान देने की बहुत जरूरत है पेट से जुड़ी गम्भीर बीमारियां हो सकती हैं। प्रेम संबंध अच्छे रहेंगे,आपके साथी के आपसी समन्वय बना रहेगा। परिवार में किसी की सेहत बिगड़ सकती है।


उपाय- सूर्यग्रहण के सूतक काल से ही आपको शनिदेव की उपासना करनी चाहिए। ग्रहण काल में “ॐ शं शनैश्चराय नमः” इस मंत्र का जाप करें।

There is a great need for people of Capricorn to keep restraint on their speech, otherwise there is every possibility of spoiling the work being done. Any kind of haste can be fatal for you. You need to pay a lot of attention to your routine, there can be serious diseases related to stomach. Love relations will be good, mutual coordination with your partner will remain. The health of someone in the family may deteriorate.


Remedy- You should worship Shani Dev from the Sutak period of solar eclipse.during the eclipse period “Om Shan Shanishcharaya Namah” Chant this mantra

कुम्भ राशि (Kumbh Rashi) / Aquarius Zodiac Sign 2022-

कुम्भ राशि के लिए यह ग्रहण धन लाभ से जुड़ा हुआ है। आपको निवेश से संबंधित लाभ प्राप्त होंगे। नए उघोग और व्यापार शुरू कर सकते हैं।
स्वास्थ सामान्य ही रहेगा पर मौसमीय परिवर्तन के प्रभाव से परेशानी हो सकती है। परिवार में सभी का आपसी सामंजस्य बनाये रखें, बच्चों के स्वास्थ पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है।


उपाय- कुम्भ राशि के जातकों को भगवान शिव की उपासना करनी चाहिए और शनि देव का मनन करते रहना चाहिए।

This eclipse is associated with money gain for Aquarius. You will get benefits related to investment. Can start new industries and business.
Health will remain normal, but due to the effect of seasonal changes, there may be trouble. To maintain mutual harmony for everyone in the family, there is also a need to pay attention to the health of the children.


Remedy- The people of Aquarius zodiac should worship Lord Shiva and keep on contemplating Shani Dev.

मीन राशि (Meen Rashi) / Pisces Zodiac Sign 2022-

मीन राशि के लोगों के लिए यह सूर्यग्रहण औसत रहेगा। स्वास्थ अच्छा रहेगा पर परिवार में किसी सदस्य के स्वास्थ की खराबी से मन विचलित हो सकता है। धैर्य रखकर धन खर्च करें, लाभ और हानि दोनों सम्भावनाएं है। अपने उघोग पर ज़्यादा ध्यान देने की आवश्यकता है। आपको आर्थिक योजना बनाकर ही आगे के कार्य करने चाहिए। पारिवारिक सुख मिलेगा पर प्रेम संबंधों में अनबन हो सकती है।


उपाय- आपको ग्रहण काल में लक्ष्मीनारायण की आराधना और पूजा करनी चाहिए और अपने गुरुमंत्र का निरन्तर जाप करते रहना चाहिए।

This solar eclipse will be average for the people of Pisces. Health will be good, but the mind may be disturbed due to health problems of any member of the family. Spend money with patience, both profit and loss are possible. You need to pay more attention to your industry. You should do further work only after making an economic plan. There will be family happiness but there may be rift in love relations.


Remedy- You should worship and worship Laxminarayan during the eclipse period and keep chanting your Gurumantra continuously.

भारत में साल का दूसरा सूर्यग्रहण 25 अक्टूबर 2022 को हैं |

भारत के समयानुसार -
दोपहर 2 बजकर 28 मिनट से शुरू होकर
शाम 6 बजकर 32 पर ख़त्म होगा,
लेकिन यह शाम 4 बजे के बाद से ही दिखना शुरू होगा जो सूर्यास्त तक दिखेगा।

तारीख- 25 अक्टूबर 2022,मंगलवार

ग्रहण समय- शाम 04:46 बजे से

शाम 05:41 बजे तक

ग्रहण की अवधि- 55 मिनट

अधिकतम ग्रहण- शाम 05:39 बजे दिखेगा।

About The Author -

Astro Arun Pandit is the best astrologer in India in the field of Astrology, Numerology & Palmistry. He has been helping people solve their life problems related to government jobs, health, marriage, love, career, and business for 48+ years.

अक्षय तृतीया 2024

अक्षय तृतीया 2024: हिंदू धर्म में अक्षय तृतीया का पर्व बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है और इसे प्रतिवर्ष वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जाता है।

Read More »

Ram Navami 2024| राम नवमी 2024

चैत्र नवरात्रि: हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, चैत्र माह की पहली तिथि से नवरात्रि 2024 की शुरुआत होती है, जिस दिन हिन्दू नववर्ष का भी आरंभ होता है। इस दिन से

Read More »

चैत्र नवरात्रि 2024!

चैत्र नवरात्रि: हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, चैत्र माह की पहली तिथि से नवरात्रि 2024 की शुरुआत होती है, जिस दिन हिन्दू नववर्ष का भी आरंभ होता है। इस दिन से

Read More »

होलिका दहन 2024 का मुहूर्त, ज्योतिषीय उपाय, पूजा विधि और इसका सही नियम !

“रंगों का पर्व होली” होलिका दहन 2024 : हमारे सनातन हिंदू धर्म का यह एक बहुत ही सुंदर और महत्वपूर्ण त्योहार है। बसंत ऋतु के आने के बाद से ही

Read More »